गुरुवार, 19 जुलाई 2012

" कैसे भूल जाऊं ..तुम्हारा जन्मदिन....."


जितना अधिक स्नेह उतनी अधिक अपेक्षा , जितना ज्यादा प्यार दुलार उतना ही ज्यादा भरोसा प्रतिप्यार का | ऐसा ही होता है दो लोगों के बीच प्यार और विश्वास का सम्बन्ध शायद | सामान्यतः तो प्यार और स्नेह का लेन देन चलता रहता है, पर जीवन के बहुत लम्बे सफ़र में ये लेन देन सफ़र के दौरान दूसरे तमाम लोगों के शामिल होते रहने से ज़रा घटता बढ़ता और बदलता भी रहता है | जो स्वभाविक भी है | अमूमन प्यार के बदले दूसरा व्यक्ति प्यार की ही अपेक्षा रखता है | पर कभी कभी वह यह भी चाहता है कि उसे प्यार करने वाला कोई गलती ऐसी करे, जो उससे शिकायत करने का सबब बने और वह उससे उलाहना भरे अंदाज़ में उसकी गलती बताते हुए भीतर ही भीतर खुश हो सके | यह भाव बच्चों में भी होता है कि अगर उन्होंने किसी ख़ास चीज़ की फरमाइश की है , तब वे बस एक बार ही बोलेंगे फिर चाहेंगे कि आप भूल जाये और वे आपको याद भी नहीं आने देंगे| फिर किसी मौके पर बड़ी सादगी से भोले बनते हुए निर्णय सुना देंगे कि आप लोग मुझे भूल ही जाते हैं | इसमें उनको ख़ुशी उस असहजता में मिलती है ,जो भूलने पर आप के अन्दर उत्पन्न होती है ।

पत्नियां भी कभी कभी ऐसे अवसर तलाशती रहती है और ऐसी स्थिति को निर्मित करने का पूरा प्रयास करती हैं | ख़ास कर जिस माह उनका जन्मदिन होगा , उस माह वह किसी के भी जन्म दिन के विषय में बात ही नहीं करती हैं और न ही किसी अन्य को गिफ्ट लेने देने का प्रसंग छेड़ती हैं | जिससे की किसी भी तरह से उनके पति के मन में जन्म दिन से रिलेटेड कोई ख्याल ही न उत्पन्न हो | कभी कोई ज़िक्र आयेगा भी तो पूरा प्रयास कर टाल जायेंगी और बस इंतज़ार करती रहेंगी कि बस वह तारीख निकल जाए फिर खबर लें अपने मियाँ की |

कुछ ऐसा ही चल रहा था इस माह मेरे यहाँ भी | मैं भी बिलकुल कुछ ऐसा ही दिखावा कर रहा था कि जैसे मुझे दूर दूर तक कुछ याद नहीं है | ( पर उन्हें कौन बताये कि मैंने तो अपने दिल पर उनकी तारीख का टैटू बनवाया हुआ है ) वह मन ही मन सोच रहे हैं कि इस बार मैं भूलूँ बस, फिर वो जी भर कर कह सकें ,अब आपको मेरा जन्म दिन क्यों याद रहने वाला |

पर ऐसा शायद कभी मुमकिन नहीं होगा | शिकायत के मौके तो बहुत दूंगा , वादा रहा | पर जन्मदिन भूल कर , कभी नहीं |

जन्म दिन मुबारक 'निवेदिता' | 

23 टिप्‍पणियां:

  1. @ शिकायत के मौके तो बहुत दूंगा , वादा रहा ,पर जन्मदिन भूल कर , कभी नहीं |

    - बिल्कुल, ऐसा खास दिन कैसे भूल सकते हैं आप. शुभकामनायें!

    जवाब देंहटाएं
  2. निवेदिता जी का दिल तो आपने जीत ही लिया(एक बार फिर..)
    मगर हमारा दिल भी खुश हो गया प्यारी सी पोस्ट पढ़ कर....
    अनेकों शुभकामनाएं आप दोनों को..

    अनु

    जवाब देंहटाएं
  3. अरे वाह खूबसूरत अंदाज़ .....बहुत बहुत बधाई एवम शुभकामनायें ...आपको और निवेदिता जी दोनो को ...!!

    जवाब देंहटाएं
  4. हाँ, छोटी छोटी चीजे तो भूल सकते हैं पर मूल कैसे भूलें। यह भाभीजी की पिछली पोस्ट का उत्तर भी था।

    ढेरों शुभकामनायें आप दोनों को..

    भूल अभूल बसें मन मोदा।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रवीण जी , अब अगर अमित जी कोई गल्ती न करें तो लगता है मुझसे ही कोई गल्ती हो गयी है ...-:)

      हटाएं
  5. बहुत खूबसूरत पोस्ट... निवेदिता जी !जन्म दिन की बहुत - बहुत बधाई

    जवाब देंहटाएं
  6. आदरणीया निवेदिता जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएँ!

    सादर

    जवाब देंहटाएं
  7. कल 20/07/2012 को आपकी यह बेहतरीन पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    जवाब देंहटाएं
  8. शिकायत के मौके तो बहुत दूंगा , वादा रहा | पर जन्मदिन भूल कर , कभी नहीं |

    अमित जी आपने बहुत खूबसूरत उपहार दिया है इस वादे के रूप में निवेदिताजी को, इसे देखकर हम सब इतने खुश हैं तो उनकी ख़ुशी का ठिकाना ही ना होगा आखिर ये उनके लिए ही तो है. जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनायें निवेदिता जी ...

    जवाब देंहटाएं
  9. बेहतरीन पोस्ट , यही प्यार और नोकझोंक बनती है रिश्ते को और भी खास . जन्मदिन मुबारक हो निवेदिता जी. आप दोनों को ढेर सारी शुभकामनायें

    जवाब देंहटाएं
  10. अच्छे पति होने की बधाई स्वीकारें अमित जी ! मंगल कामनाएं आपके आजीवन प्यार के लिए !!

    जवाब देंहटाएं
  11. bahut accha sabhi patiyon ke liye accha sandesh...nivedita jee ko meri aor se bhi shubhkamnayen....

    जवाब देंहटाएं
  12. आपकी पोस्ट पढ़कर हँसी भी आ रही है और मज़ा भी...क्योंकि बात तो एकदम सही है... ! :)
    निवेदिता जी को हमारी ओर से भी जन्मदिन की ढेरों बधाइयाँ ! ईश्वर करे, आप दोनों के बीच ऐसा ही खट्टा-मीठा प्यार हमेशा बना रहे !!!

    जवाब देंहटाएं
  13. खूबसूरत अंदाज़ .... निवेदिता जी को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें ... आपको भी बधाई ...आप भी आखिरकार हकदार हैं बधाई के ।

    जवाब देंहटाएं
  14. प्रेम पगी पाती ,पढ़कर अच्छा लगा ...
    निवेदिता जी को जन्म दिन की ढेरों बधाई और शुभकामनाएं...

    जवाब देंहटाएं
  15. जन्मदिन की शुभकामनाएं हमारी ओर से भी..बस..पढ़कर निकला..वाह..

    जवाब देंहटाएं
  16. वाह ..! जन्मदिन मनाने का ये अंदाज़ जरुर निवेदिता जी को पसंद आया hoga .....:))

    हमारी और से भी जन्म दिन मुबारक निवेदिता जी ....:))

    जवाब देंहटाएं
  17. देर से ही सही ,शुभकामनायें हमारी भी. परस्पर नोकझोंक चलती रहे - झलकियाँ हमें भी मिलती रहें !

    जवाब देंहटाएं
  18. इस टिप्पणी को लेखक ने हटा दिया है.

    जवाब देंहटाएं
  19. man bhaya is sneh se bhari rachna ko padhkar... der ho gai par aapki jeevansangini ko janamdin ki shubkamnayen

    जवाब देंहटाएं