मंगलवार, 22 फ़रवरी 2011

"सवेरे सवेरे"

तुम हो  ख़ुश्बू ,
एक प्याली चाय  की ,
सवेरे सवेरे |
तुम लगो संगीत ,
कोयल की कूक सी ,
सवेरे सवेरे |
तुम हो एक एहसास ,
मखमली धूप सी ,
सवेरे सवेरे |
जी तो करे ,
भर लूँ तुम्हे बाहों में ,
सवेरे सवेरे |
तुम्हारा लजाना यूँ ,
कह गया कहानी रात की ,
सवेरे सवेरे |

23 टिप्‍पणियां:

  1. तुम हो एक खुशबू ,
    एक प्याली चाय की ,
    सवेरे सवेरे |
    ... jiske bagair subah basi lagti hai

    उत्तर देंहटाएं
  2. अहसास खुशनुमा अनूभुतियों का, सवेरे-सवेरे.

    उत्तर देंहटाएं
  3. तेरी ज़ुल्फ़ कह रही है तेरी रात का फ़साना :)

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत ही उम्दा रचना , बधाई स्वीकार करें .
    आइये हमारे साथ उत्तरप्रदेश ब्लॉगर्स असोसिएसन पर और अपनी आवाज़ को बुलंद करें .कृपया फालोवर बन उत्साह वर्धन कीजिये

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत ही सुन्‍दर शब्‍दों से सजी यह प्रस्‍तुति ।

    उत्तर देंहटाएं
  6. सुबह जैसी ताज़ा पाँक्तियाँ। शुभप्रभातम।

    उत्तर देंहटाएं
  7. कोमल भावों से सजी ..
    ..........दिल को छू लेने वाली प्रस्तुती
    आप बहुत अच्छा लिखतें हैं...वाकई.... आशा हैं आपसे बहुत कुछ सीखने को मिलेगा....!!

    उत्तर देंहटाएं
  8. तुम्हारा लजाना यूँ ,
    कह गया कहानी रात की ,
    सवेरे सवेरे .....

    तौबा .....!!

    खुदा को याद कीजिये जनाब सवेरे-सवेरे .....

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (24-2-2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।

    http://charchamanch.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत ही अच्छा लगा पढ़कर सवेरे सवेरे

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत कुछ मिल गया सवेरे-सवेरे .....दिन तो बढ़िया बीतेगा ही

    मनभावन रचना

    उत्तर देंहटाएं
  12. मैं शाम को पढ़ रहा हूँ इसे और सुबह को महसूस कर रहा हूँ ! उफ़ ये ऑफिस की तैयारी सबेरे सबेरे !

    उत्तर देंहटाएं
  13. उनको देख कर लिखी गयी अभिव्यक्ति.
    बहुत ही सुन्दर.
    सलाम.

    उत्तर देंहटाएं
  14. तुम्हारा लजाना यूँ ,
    कह गया कहानी रात की ,
    सवेरे सवेरे |
    अतिसुन्दर भावाव्यक्ति , बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  15. अति सुन्दर बन पडी हैं ये पंक्तियाँ मित्र !

    उत्तर देंहटाएं