सोमवार, 25 मार्च 2013

"होली की हार्दिक शुभकामनायें..........."



संग ले दोस्तों की टोली ,
निकले हम खेलने होली ,
कोई बड़ा कोई था छोटा ,
पर लगे सभी हमजोली ,
खूब रंगा सबको हमने ,
हमारी भी हुई खूब धुलाई ,

उड़ा जब खूब ,
पीला अबीर ,
लाल गुलाल ,
देखते बनती थी ,
सबकी चाल ,

मन में उमंग थी ,
भांग की तरंग थी ,
गरम मिजाज़ ,
थोड़ा नाराज़ हुए ,
नरम मिजाज़ ,
शर्म से लाल हुए ,

शाम ढलते ढलते ,
रंग तो उतर गया ,
मन गुझिया गुझिया हो गया ,
और प्यार ऐसा चढ़ गया ,
अब दिल बस यही बोले ,
होली हर दिन क्यों न हो ली ।

"होली की हार्दिक शुभकामनायें "

18 टिप्‍पणियां:

  1. होली की अशेष शुभकामनायें , रोज होली मनाये .:)

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत ही बेहतरीन,होली की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत उम्दा प्रस्तुति ,,
    होली की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाए,,,,
    Recent post : होली में.

    उत्तर देंहटाएं
  4. आप तो रंगों की दूकान खोले बैठे हैं .....

    थोड़ा सा चुराकर लिए जा रही हूँ ....:))

    उत्तर देंहटाएं
  5. होली की हार्दिक शुभकामनाएँ!:-)
    ~सादर!!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. वाकई ,मन गुझिया-गुझिया हो गया......
    आपको सपरिवार रंगोत्सव की शुभ-कामनाएं.....
    साभार.....

    उत्तर देंहटाएं
  7. ब्लॉग बुलेटिन की पूरी टीम की ओर से आप सब को सपरिवार होली ही हार्दिक शुभकामनाएँ !

    आज की ब्लॉग बुलेटिन हैप्पी होली - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  8. sunder rachna

    आपको और आपके परिवार को
    होली की रंग भरी शुभकामनायें

    aagrah hai mere blog main bhi sammlit hon
    aabhar

    उत्तर देंहटाएं
  9. वाह...मन गुझिया गुझिया हो गया ... होली की हार्दिक शुभकामनायें...

    उत्तर देंहटाएं
  10. आज होली की मस्ती में सारा दिन महका रहे।

    उत्तर देंहटाएं
  11. होली का पर्व आपको सपरिवार शुभ और मंगलमय हो!

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  12. होली की हार्दिक शुभकामनायें ....

    उत्तर देंहटाएं