गुरुवार, 23 मई 2013

...बस संजो लिया ...................."

             कहीं पर लिखा हुआ पड़ा था । पढ़ा , सच सा लगा , संजोने का मन किया तो ब्लॉग पोस्ट बना दिया । 




15 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छा संकलन है।
    हिंदी का ब्लॉग- अंग्रेजी कोटेशन!

    उत्तर देंहटाएं
  2. सही है :) , अनूप जी की टिप्पणी भी मजेदार :).

    उत्तर देंहटाएं
  3. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन अरुणिमा सिन्हा को सलाम - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत खूब | लाजवाब अभिव्यक्ति | सत्य वचन | आभार

    कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण अथवा टिपण्णी के रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
    Tamasha-E-Zindagi
    Tamashaezindagi FB Page

    उत्तर देंहटाएं
  5. बुद्द पूर्णिमा की हार्दिक शुभ कामनाएँ !

    आपने लिखा....हमने पढ़ा
    और लोग भी पढ़ें;
    इसलिए कल 25/05/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    आप भी देख लीजिएगा एक नज़र ....
    धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  6. बढ़िया....
    वाकई संजोने लायक....

    सादर
    अनु

    उत्तर देंहटाएं



  7. बड़ा घर
    दस कमरे
    पर रहने वाले
    बस तीन
    फिर भी वो
    खुश नहीं |

    छोटा घर
    कमरे दो
    रहने वाले दस
    फिर भी उस घर
    प्यार की बरसात हुई
    बहुत ||.......अंजु

    उत्तर देंहटाएं