शनिवार, 2 अगस्त 2014

" मैं लालची हूँ ........"


इधर बहुत दिनों से फेसबुक से दूर था । कारण कोई ख़ास नहीं ,बस यूं ही दूर था । ३० जुलाई को अचानक ख्याल आया कि पहली अगस्त को तो मेरा जन्मदिन है और अगर फेसबुक एकाउंट ऐक्टिवेट नहीं किया तो लोग जन्मदिन पर विश कैसे करेंगे । बस शुभकामनाओं की लालच में पुनः एकाउंट ऐक्टिवेट कर दिया और मैंने वहां लिखा भी था "समेटने की चाहत में फिर आ गया हूँ " ,क्योंकि किसी ने सच ही कहा है " दुआओं का एहले करम न समझिए ,बहुत दे दिया जिसने दिल से दुआ दी " |


फेसबुक पर लगभग ८० प्रतिशत लोग ऐसे हैं जिनसे कभी नहीं मिला पर ऐसे लोगों से विचारों / टिप्पणियों के माध्यम से संवाद का एक सिलसिला सा बन गया है और ऐसे लोगों से बस दो लफ्ज़ "हैपी बर्थडे " सुनना अच्छा तो लगता है । इसके अलावा सिस्टम जनरेटेड ही सही पर गूगल जब आपको नाम के साथ अचानक से विश करे तो भी अच्छा लगता है ।


ऐसे अवसरों पर कुछ लोग ख़ास कर याद आते हैं जो फोन कर सीधे दिल में अपनी दुआएं उतार देते हैं । इन्ही सब बातों में उलझा था ,अचानक से मुझे महसूस हुआ कि मैं अब कुछ लालची होने लगा हूँ । लालच संबंधों का , सामीप्य का ,हंसी का , खिलखिलाहट का बढ़ता जा रहा है ।

जब किसी का संग अच्छा लगे तो चाय न ख़त्म होने का लालच , कोई मुस्कुरा दे तो उसे खिलखिलाहट में बदल पाने का लालच दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है । बेटे अपनी उपलब्धियां बताएं तो उनके चेहरे पर आई चमक के बरक़रार रहने का लालच ,निवेदिता आँखे मीच जब हंसे तो उनके गालों पे डिम्पल बने रहने का लालच ,दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है । 

बदल दूँ खिलखिलाहट में ,तबस्सुम लाएं तो लबों पे वो ,
और रोक सकूँ आंसू उन आँखों में ,भीगे पलकें जब कभी भी । 

इस लालच को बढ़ाने में ईश्वर का ही सारा दोष है क्योंकि प्रत्येक लालच को वह पूर्ण कर देते हैं और इसी क्रम में लालच और बढ़ जाती है । 

हाँ , मैं लालची हूँ । 

13 टिप्‍पणियां:

  1. एक बार फिर से भैया, हैप्पी बर्थडे !! कल तो बहुत आखिर में आपको फेसबुक पर विश किया, यहाँ देखिये पहला विश मेरा ही है ! :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. अमित जी में इस बार भी भूल गई ..हा हा ...belated hpy bday ..

    उत्तर देंहटाएं
  3. कल 03/अगस्त/2014 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद !

    उत्तर देंहटाएं
  4. शुक्र है लालची हैं...वरना हमने तो आपको खो ही दिया था (फेसबुक से ) !!!
    बीच में फोन बदल लिया था सो नंबर गुम गए वरना आप दोनों के बड्डे पर बात ज़रूर करते :-)
    फिर से ढेरों शुभकामनाएं.....
    अनु

    ps- पोस्ट में हमारी दो दो जगह फोटो पोस्ट की शोभा और बढ़ा रही है :-)

    उत्तर देंहटाएं
  5. हमने तो फ़ोन करना ही बन्द कर दिया क्योंकि दो बार मैंने दो अलग अलग मौकों पर फोन किया मगर किसी ने नहीं उठाया!! इसलिये इस बार फेसबुक से ही काम चलाया!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. वाह बहुत ही बढ़िया
    कुछ मामलों में लालची होना भी ज़रूरी है
    belated happy b'day...

    उत्तर देंहटाएं
  7. सुंदर प्रस्तुति , ज़रूरी है लालची होना भी

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुन्दर...कुछ चीज़ों में लालची होना भी अच्छा है...

    उत्तर देंहटाएं